Thursday, 13 September 2018

नन बलात्कार केस पर केरल हाई कोर्ट सख्त

एक नन से बलात्कार करने के आरोप में जालंधर के बिशप, पैंको मुलक्कल को पूछताछ के लिए इस हफ्ते बुलाए जाने की संभावना है। केरल हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से एसआईटी जांच की रिपोर्ट तलब की है। साथ ही हाई कोर्ट ने पूछा है कि पीड़िता नन और उसके परिवार को सुरक्षा क्यों नहीं दी गई? केरल कैथोलिक चर्च रिफार्मेशन के जॉर्ज जोसेफ की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने जांच में हुई पगति और उठाए गए कदमों की भी जानकारी मांगी है। नन का आरोप है कि बिशप मुलक्कल ने उसके साथ 2014 से 2016 तक कई बार दुष्कर्म किया। इसकी शिकायत ढाई माह पहले कराई गई थी, लेकिन केरल पुलिस की एसआईटी ने अब तक बिशप से सिर्प एक बार पूछताछ की है, जबकि पीड़िता से 12 बार बयान लिए जा चुके हैं। वहीं पुलिस ने संकेत दिए हैं कि आरोपी को पूछताछ के लिए इसी सप्ताह नोटिस दिया जा सकता है। राष्ट्रीय महिला आयोग ने नन के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देने वाले निर्दलीय विधायक पीसी जॉर्ज को भी समन जारी किया है। पुलिस का कहना है कि नन, गवाहों और जालंधर डायोसिस बिशप पैंको मुलक्कल के दिए बयानों में काफी विरोधाभास है। इसलिए संदेह दूर करने के बाद आगे की कार्रवाई के बारे में कोई फैसला किया जाएगा। हालांकि अधिकारी ने नन के लिए न्याय मांग रहे पदर्शनकारियों के इस आरोप को खारिज कर दिया कि पुलिस आरोपी बिशप की मदद कर रही है। उन्होंने कहा कि इस मामले में एक स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच चल रही है। इसी बीच कोट्टयम से पाप्त खबरों के अनुसार पुलिस ने निर्दलीय विधायक पीसी जॉर्ज के खिलाफ भी कार्रवाई शुरू की है जिन्होंने पीड़िता नन के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। केरल विधानसभा में विपक्षी नेता रमेश चैन्नीमला ने कहा कि यह आरोप है कि जांच बहुत धीमी गति से आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि मामला दर्ज होने के 76 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस ने जांच पूरी नहीं की। उन्होंने समयबद्ध तरीके से जांच पूरी करने का अनुरोध किया। वहीं केरल कैथोलिक चर्च रिफार्मेशन मूवमेंट सहित कैथोलिक सुधार संगठनों ने नन के लिए न्याय की मांग करते हुए केरल में अपना पदर्शन जारी रखा है। केरल में भाजपा और संघ परिवार से जुड़े संगठनों ने पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए पदर्शनकारी ननों के साथ एकजुटता जाहिर की है। निर्दलीय विधायक पीसी जॉर्ज ने पीड़िता और उसकी साथी ननों के खिलाफ एक बयान में कहा है कि असली पीड़ित को लेकर कुछ संदेह है। उन्होंने पूछा असली पीड़ित कौन है? नन या बिशप? नन के खिलाफ अभद्र भाषा का कथित तौर पर इस्तेमाल किए जाने को लेकर राष्ट्रीय महिला आयोग द्वारा उनके खिलाफ शुरू की गई कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर जॉर्ज ने कहा कि क्या वे लोग उनकी नाक काट लेंगे?

-अनिल नरेन्द्र

No comments:

Post a comment