Thursday, 3 May 2018

पोंटी चड्ढा द्वितीय, दो सगे भाइयों की मौत

वह कहते हैं कि इतिहास अपने आपको दोहराता है। ठीक कुछ ऐसा ही राजधानी दिल्ली में हुआ जब छोटी-सी बात पर दो सगे भाइयों ने एक-दूसरे को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। आज से लगभग छह साल पहले 2017 में दिल्ली के फार्म हाउस में शराब कारोबारी पोंटी चड्ढा पर उसके छोटे भाई हरदीप ने गोलियां बरसाई थीं और पोंटी के गार्डों ने हरदीप को मार गिराया था। ठीक लगभग ऐसा ही सीन दिल्ली के मॉडल टाउन इलाके में दोहराया गया। इसे पोंटी चड्ढा द्वितीय भी कहा जा सकता है। मॉडल टाउन में गुरुवार रात हुए तिहरे हत्याकांड को लेकर कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं। पार्किंग को लेकर विवाद में बड़े भाई जसपाल ने छोटे भाई गुरजीत को कार से टक्कर मारी और उसकी टांग तोड़ दी। जसपाल सिंह अनेजा (52) और उनके छोटे भाई गुरजीत (48) मॉडल टाउन पार्ट-2 की कोठी में फैमिली के साथ रहते थे। चार मंजिला कोठी का ग्राउंड फ्लोर जसपाल और फर्स्ट फ्लोर गुरजीत के पास था। बाकी दोनों फ्लोर भी दोनों भाइयों के बीच बंटे हुए थे। गुरुवार देर रात जसपाल अपनी दोस्त को ऑडी कार से छोड़ने जा रहे थे तभी गुरजीत ने अपने एम्बेसडर कार सामने लगा दी। इस पर दोनों भाइयों में मारपीट होने लगी। आरोप है कि जसपाल ने कृपाण निकालकर गुरजीत के सीने और पेट पर ताबड़तोड़ वार किए। बचाने आया गुरजीत का बेटा भी घायल हो गया। तब तक जसपाल की पत्नी स्वीटी (50) भी आ गईं। इसी बीच गुरजीत के प्राइवेट बॉडी गार्ड्स ने स्वीटी और जसपाल पर गोलियां चला दीं। जख्मी जसपाल बराबर की कोठी में घुसे लेकिन बॉडी गार्ड उन पर गोलियां बरसाते रहे। बाद में परिजन उन्हें अस्पताल ले गए, जहां जसपाल, स्वीटी और गुरजीत तीनों की मौत हो गई। पुलिस ने शुक्रवार शाम दोनों बॉडी गार्ड्स को गिरफ्तार कर लिया। दोनों भाइयों के रिश्ते इतने खराब हो चुके थे कि आधा दर्जन बार क्रॉस एफआईआर तक हो चुकी है। जसपाल प्रॉपर्टी का बड़ा बिजनेस करते थे और गुरजीत का रेस्टोरेंट बार के अलावा भी कई बिजनेस थे। प्रॉपर्टी की रंजिश, पैसों का दमखम और पार्किंग विवाद आखिरकार मॉडल टाउन के इन रसूखदार परिवार के तीन कत्ल की सबसे बड़ी वजह बना। कुछ ही लम्हों में दो परिवार तबाह हो गए।
-अनिल नरेन्द्र


No comments:

Post a comment