Sunday, 27 May 2018

खिलाड़ी तो बहुत मिलेंगे, नहीं मिलेगा तो दूसरा डिबिलियर्स

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अब 360 डिग्री के शॉट नहीं नजर आएंगे। 14 साल तक अपने बल्ले से क्रिकेटप्रेमियों को मंत्रमुग्ध करने वाले दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज एबी डिबिलियर्स ने सभी प्रारूपों से संन्यास का ऐलान कर दुनियाभर में अपने फैंस को चौंका व दुखी कर दिया। एबी के इस बड़े फैसले से न सिर्प फैंस बल्कि क्रिकेट एक्सपर्ट्स भी हैरान हैं। यह सुनते ही सोशल मीडिया पर मानो तो मातम-सा पसर गया। फैंस का कहना है कि खिलाड़ी तो आते-जाते रहेंगे, लेकिन क्रिकेट में अब दूसरा एबी डिबिलियर्स नहीं देखा जा सकता। खिलाड़ी तो बहुत मिलेंगे पर दूसरा डिबिलियर्स नहीं मिलेगा। एबी बेहतरीन कट, जोरदार पुल शॉट और स्पिनरों पर प्रहार करते हुए खुशी मनाते थे। उनका बल्ला बोलता था। यह आक्रमण को ध्वस्त करने के लिए काफी था। वह गेंदबाजों के लिए एक मुस्कुराते हुए हत्यारे की तरह थे। वह दिलचस्प शॉट खोलते थे जो श्रीलंका तिलकरत्ने दिलशान की वजह से प्रसिद्ध हुआ। उनका रिवर्स स्वीप काफी प्रभावी था और वह डेल स्टेन जैसे तेज गेंदबाज पर भी रिवर्स स्वीप खेल सकते थे। ऑफ स्टम्प के बाहर राफल करना और स्क्वॉयर के पीछे की गेंद को चुपके से खेलना उनके ऐसे शॉट थे जिन पर वह अपना दावा कर सकते थे। यूट्यूब पर उनके इन शॉट को एबी इनसेट शॉट क्लिक करके देखा जा सकता है, जिन्हें पहले ही 36 लाख हिट मिल चुके हैं। दक्षिण अफ्रीका में नस्लीय युग से पहले ग्रीम पोलाक का इस तरह का प्रभाव मंडल था। जैक्स कैलिस आश्चर्यजनक ऑल राउंडर थे, लेकिन एबी का टी-20 प्रारूप और छोटे प्रारूप में अपना ही विस्फोटक अंदाज था। विराट कोहली ने हमेशा यह महसूस किया कि डिबिलियर्स की मौजूदगी आरसीबी के ड्रेसिंग रूम में निश्चिंत होने की एक वजह है। इन दोनों बल्लेबाजों के बीच आपसी सूझबूझ देखी जा सकती थी, लेकिन जहां तक गेंदबाजी आक्रमण ध्वस्त करने की बात है तो डिबिलियर्स उन्हें बहुमुखी साबित करता है। खेल के मुक्ताकारा में सुपर मैन, जेंटलमैन, स्पाइडर मैन और मिस्टर 360 डिग्री के नाम से विचरण करने वाले डिबिलियर्स ने अपने देश के लिए हमेशा लाजवाब पारियां खेलीं। वह सबसे तेज 50, 100 और 150 रन बनाने के रिकार्ड होल्डर हैं। खेल की दुनिया में अपनी अमिट छाप छोड़ने वाले एबी को ]िक्रकेटप्रेमी हमेशा तलाशेंगे। हालांकि उनके नजदीक खिलाड़ियों में आईपीएल के तुरन्त बाद संन्यास लेने पर क्षोभ भी दिखा। डिबिलियर्स ने कहा है कि उनकी विदेशों में खेलने की कोई योजना नहीं है, जिसका मतलब क्या वह आईपीएल के अगले सत्र में आरसीबी की जर्सी में नहीं नजर आएंगे? उन्होंने कहाöमैं उम्मीद करता हूं कि मैं घरेलू क्रिकेट में टाइट्स के लिए उपलब्ध रहूंगा और प्रोटियाज टीम का सबसे बड़ा समर्थक बना रहना चाहूंगा। अगर वह घरेलू लीग में उपलब्ध रहेंगे तो हम क्या यह उम्मीद कर सकते हैं कि वह आरसीबी के लिए भी उपलब्ध रहेंगे?

-अनिल नरेन्द्र

No comments:

Post a comment