Wednesday, 11 July 2018

पांच साल में भाजपा ने क्या किया 2019 में पता चलेगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के काम करने के स्टाइल से दुखी भाजपा के कई दिग्गज अब असंतुष्टों की श्रेणी में आ चुके हैं। यह नेता आए दिन मोदी सरकार की आलोचना करते हैं। ताजा केस में तो हद हो गई जब पिता ने पुत्र पर ही कटाक्ष कर दिया। मैं बात कर रहा हूं श्री यशवंत सिन्हा और उनके मंत्री पुत्र जयंत सिन्हा की। मीट व्यापारी की हत्या के दोषियों को सम्मानित कर केंद्रीय उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा विवादों में घिर गए हैं। सोशल मीडिया पर उनकी खासी खिंचाई हो ही रही है पर उनके पिता पूर्व भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने तो यहां तक लिखाöमैं पहले लायक बेटे का नालायक पिता था। अब उल्टा हो गया है। मैं बेटे के कृत्य से सहमत नहीं हूं पर मैं जानता हूं कि आगे दुर्व्यवहार बढ़ेगा। आप जीत नहीं सकते। यशवंत सिन्हा ने पिछले दिनों कई बातें कही हैं। सिन्हा ने कहा कि देश में वर्तमान सरकार की ओर से चुनावों से पूर्व देशवासियों से बड़े-बड़े वादे कर सत्ता में आई थी, लेकिन वादे आज पूरे न होकर महज जुमले बनकर रह गए हैं। उन्होंने सवाल किया कि देश में पिछले पांच सालों में सरकार ने क्या किया है, का फैसला अब वर्ष 2019 के चुनावों में होगा। चंडीगढ़ के प्रेस क्लब में रूबरू कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि देश की राजनीति बड़ी करवट ले रही है और आने वाले समय में इसके परिणाम देखने को मिलेंगे। उधर एक और कथाकथित असंतुष्ट नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि सच कहना गलत है तो मैं कहता हूं कि हम भी बागी हैं। शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मैं जनता के साथ हूं और सच को बोलने वाला। वहीं प्रश्न-उत्तर सत्र में यशवंत सिन्हा ने कहा कि मैं 25 साल से पार्टी के साथ जुड़ा था और उस दौरान काम करने में कोई परेशानी नहीं आई लेकिन अब तो मोदी सरकार में काम करना तो दूर बोलने की आजादी तक नहीं है। इस घुटन-भरे माहौल में रहने से अच्छा था कि इससे बाहर निकलकर काम करना। उन्होंने कहा कि पार्टी में दो लोगों की सरकार है और किसी को कुछ बोलने की इजाजत नहीं है। शेष लोग तो कठपुतली बनकर काम कर रहे हैं। उन्होंने मोदी सरकार पर कड़े कटाक्ष किए और कहा कि उनके राष्ट्रीय मंच में कोई दलगत राजनीति न होगी और न ही किसी दूसरे दल में जाएंगे। देशहित में हमेशा अपनी बात करूंगा। उन्होंने कहा कि भाजपा ने नोटबंदी को देश में लागू कर लोगों को बेरोजगार कर दिया और ऊपर से जीएसटी को लागू कर नीम पर करेला चढ़ा दिया। उधर सरकार के कामकाज से असंतुष्ट एक और नेता विश्व हिन्दू परिषद के पूर्व अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया से जब एक सभा में पूछा गया कि आप हिन्दुत्व के मुद्दे पर मोदी सरकार को कितने नम्बर देते हैं तो उन्होंने जवाब दिया मैं मोदी सरकार को माइनस 20 अंक देता हूं।

-अनिल नरेन्द्र

No comments:

Post a comment