Sunday, 4 November 2018

अमेरिका का पीछा न छोड़ता यह गन कल्चर

अमेरिका में यह जो गन कल्चर है उसकी देश बहुत बड़ी कीमत चुका रहा है। आए दिन अमेरिका में गोलीबारी की खबरें आती रहती हैं। कुछ दिन पहले ही अमेरिका के पीट्सबर्ग शहर में हथियार से लैस एक व्यक्ति ने यहूदियों के प्रार्थना स्थल (सिनगॉग) में घुसकर गोलीबारी की जिसमें 11 लोगों की मौत हो गई और चार पुलिस कर्मी समेत छह अन्य घायल हो गए। अमेरिका के इतिहास में यहूदियों पर यह अब तक का सबसे घातक हमला है। बंदूकधारी की पहचान 46 वर्षीय रॉबर्ट बोअर्स के तौर पर हुई है जिसने पीट्सबर्ग के स्किवरल हिल स्थित ट्री ऑफ लाइफ का निग्रेशन सिनगॉग पर पुलिस की जवाबी कार्रवाई में घायल होने के बाद आत्मसमर्पण कर दिया है। भीड़ पर हुई गोलीबारी को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यहूदी विरोधी कदम बताया और ऐसे बंदूकधारियों के लिए मौत की सजा की मांग की है। ट्रंप ने आदेश  दिया कि व्हाइट हाउस, सार्वजनिक मैदानों, सैन्य चौकियों, नौसेना केंद्रों और जहाजों पर लगे झंडे मृतकों के प्रति शोक सम्मान में 31 अक्तूबर तक आधे झुके रहेंगे। अमेरिका के गन कल्चर से देश को भारी कुर्बानी देनी पड़ रही है। मुश्किल यह है कि अमेरिका में हथियार बनाने की लॉबी इतनी शक्तिशाली है कि वह इस पर किसी प्रकार के नियंत्रण को लगने ही नहीं देती। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इन पर प्रतिबंध लगाने का भरपूर प्रयास किया पर सफल नहीं हो सके। हाल ही में टाइम मैगजीन ने गन के संबंध में अमेरिकियों की राय जानने के लिए तीन शहरों में 245 लोगों से सम्पर्प किया। अमेरिका में गन रखने की परंपरा बहुत समृद्ध और पुरानी है। संविधान में विचार और अभिव्यक्ति की आजादी पहले और गन रखने का अधिकार दूसरे नम्बर पर है। अधिकांश अमेरिकियों के पास एक से अधिक गन है। डिसीज कंट्रोल और प्रिन्वेंशन सेंटरों (सीडीसी) के अनुसार औसतन हर रोज छह बच्चे गैरइरादतन गोलीबारी में मरते हैं या घायल होते हैं। 2012 से 2016 तक हर वर्ष 35 हजार अमेरिकी गन हिंसा में मारे गए। देश में सामूहिक हत्याकांडों की संख्या बढ़ रही है। अमेरिकी इतिहास की सबसे बड़ी जानलेवा शूटिंग 11 जून 2016 को ओरलैंडो के पल्स नाइट क्लब में हुई थी। वहां 49 लोग मारे गए। अक्तूबर 2017 को लासवेगास म्यूजिक फैस्टिवल में 58 लोगों का कत्लेआम हुआ था। गन कल्चर जारी रहने में धन की बहुत बड़ी भूमिका है। फायर आर्म्स इंडस्ट्री 17 अरब डॉलर की है। जब बराक ओबामा राष्ट्रपति थे तब अफवाह फैली कि गन रखना गैर-कानूनी हो जाएगा। इसके बाद गन और एम्यूनिशन की बिक्री जमकर हुई थी। ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद बिक्री कम हुई है। अमेरिका में नागरिकों के पास फायर आर्म्स की संख्या बढ़ रही है। वर्ष 1995 में 17 करोड़ हथियार थे। 2015 में यह संख्या 26 करोड़ 50 लाख हो गई।

-अनिल नरेन्द्र

No comments:

Post a comment