Wednesday, 1 June 2016

ट्रंप अगर राष्ट्रपति बने तो 28% अमेरिकी देश छोड़ देंगे

अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए रिपब्लिकन  पार्टी के संभावित उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को वाशिंगटन पाइमरी चुनाव आसानी से जीत लिया है। अब वह राष्ट्रपति पद के चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी का नामांकन हासिल करने से महज एक कदम दूर हैं। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव नवम्बर में होगा जिसमें ट्रंप का मुकाबला संभावित उम्मीदवार एवं पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की पत्नी हिलेरी क्लिंटन से होने की संभावना है। अपनी विवादित बयान बाजी के लिए पसिद्ध डोनाल्ड ट्रंप के अमेरिका का राष्ट्रपति बनने की पबलता से यहां के लोग डरे हुए हैं। एक सर्वे की मानें, तो ट्रंप के राष्ट्रपति बनने पर अमेरिका के 28 फीसदी लोग देश छोड़कर कनाडा पलायन करना चाहते हैं। मार्च में सात राज्य में हुई पाइमरी में डोनाल्ड ट्रंप को जीत हासिल होने के बाद यह सर्वे किया गया। सर्वे का दावा कितना सच होगा यह तो समय ही बताएगा, लेकिन यह तय है कि ट्रंप से लोग  खौफ जरूर खाए हुए हैं। ट्रंप ने अपने चुनावी वादे में कहा है कि वे अमेरिका की खोई चमक को पुन लौटाएंगे। ट्रंप के चुनाव पचार में और उनकी राष्ट्रीय सुरक्षा की रणनीति में यह बात पमुख रूप से रही है कि वे गैर-कानूनी इमिग्रेशन पर शिकंजा कसने का इरादा रखते हैं। वे ऐसे लोगों को निकालने या `दीवार' के उस ओर धकेलने के लिए बल का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। दीवार मैक्सिको से लगी, सीमा पर बनाई जानी है। अमेरिका में अवैध रूप से रह रहे 1.1 करोड़ लोगों को कम करने के लिए  ट्रंप की सीधी सच्ची योजना है-निर्वासन। राष्ट्रपति जार्ज बुश के कार्यकाल में होम लैंड सिक्यूरिटी विभाग के पमुख रहे माइकल चेर्टोफ कहते हैं कि मैं यह कल्पना भी नहीं कर सकता कि वे कैसे 1.1 करोड़ लोगों को कुछ ही साल में निर्वासित कर देंगे। वह भी ऐसी जगह जहां पुलिस बिना किसी वारंट के किसी के घर में दस्तक नहीं दे सकती? ट्रंप ने वादा किया है कि वे 1609 किलोमीटर लंबी मैक्सिको सीमा (दक्षिणी सीमा) पर दीवार बनाएंगे, जो बड़ी खूबसूरत, ऊंची और मजबूत होगी। उधर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि मुसलमानों को अलग-थलग करना या उन्हें नीचा दिखाना अमेरिकी मूल्यों के विरुद्ध है और इसमें हम कट्टरपंथ के विरुद्ध लड़ाई में अपना एक महत्वपूर्ण सहयोगी खो सकते हैं। श्री ओबामा जिन्होंने अब तक राष्ट्रपति पद के चुनाव पचार से अपनी दूरी बना रखी थी, ने मुसलमानों के बारे में पतिकूल टिप्पणी पर रिपब्लिकन पार्टी के पत्याशी डोनाल्ड ट्रंप का नाम लिए बिना उन्हें जवाब दिया है। ट्रंप ने ओबामा पर यह कहकर सीधा हमला किया था कि चाहे राजनीति हो या व्यfिक्तगत जीवन `अज्ञानता' कोई गुण नहीं हुआ करता। उन्होंने मंगलवार को ट्वीट कर कहा कि यही कारण है कि श्री ओबामा सबसे खराब राष्ट्रपति साबित हुए हैं। ट्रंप अमेरिका में मुसलमानों के पवेश पर पस्तावित अस्थायी पतिबंध की बात कह रहे हैं जिस पर अमेरिका व शेष दुनिया में बड़ा विवाद छिड़ा हुआ है। अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप पर सीधा हमला बोलते हुए डेमोकेटिक पार्टी की पबल उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने उन्हें बेलगाम बताते हुए कहा है कि देश उनके साथ जोखिम नहीं ले सकता। एक बड़े टीवी साक्षात्कार में हिलेरी ने सीएनएन को बताया कि हम डोनाल्ड ट्रंप जैसे बेलगाम व्यक्ति के हाथ में देश की कमान सौंपने का जोखिम ले कैसे सकते हैं। अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप न तो अभी राष्ट्रपति चुनाव के उम्मीदवार बने हैं न चुनाव जीते हैं। इसके पहले ही उनके उन वादों पर बहस शुरू हो गई है कि वे अमेरिका में अवैध रूप से रह रहे 1.1 करोड़ लोगों को कैसे निकालेंगे? मैक्सिको की 1609 किलोमीटर लंबी सीमा पर दीवार कैसे लगाएंगे और मुस्लिमों के पवेश पर पतिबंध कैसे लगाएंगेचुनाव नवम्बर में होना हैं। देखें आगे क्या होता है?

No comments:

Post a comment