Tuesday, 26 July 2016

आठ दिन के अंदर म्यूनिख में यूरोप में तीसरा हमला

यूरोप अब पूरी तरह से इस्लामी आतंकवाद का शिकार हो चुका है। अब तक अछूता रहा जर्मनी भी अब इसकी चपेट में आ गया है। आठ दिन में यूरोप में जर्मनी के प्रमुख शहर म्यूनिख में यह तीसरा बड़ा हमला है। इससे पहले नीस में फिर जर्मनी में और अब फिर जर्मनी में। म्यूनिख हमले के कुछ ही दिन पहले जर्मनी की एक ट्रेन में शरणार्थी अफगान किशोर ने अल्लाह हो अकबर के नारे लगाते हुए कुल्हाड़ी और चाकू से यात्रियों पर हमला बोला था। इसमें हांगकांग के एक परिवार के चार सदस्य गंभीर रूप से घायल हुए। पुलिस के अनुसार दक्षिणी शहर बुजबर्ग के समीप ट्रेन में हुई इस दुर्घटना में कई अन्य यात्री भी घायल हुए हैं। 17 साल का हमलावर किशोर उस समय मारा गया जब वह भागने की कोशिश कर रहा था। आतंकी संगठन आईएस (इस्लामिक स्टेट) से जुड़ी अमाक न्यूज एजेंसी ने कहाöजर्मनी में हमला करने वाला यह आईएस का लड़ाका था। जर्मनी में आईएस का यह पहला हमला था। इस हमले के कुछ ही दिन के अंदर जर्मनी के म्यूनिख शहर के एक शापिंग मॉल में बंदूकधारियों की अंधाधुंध फायरिंग में कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई। हमले में 10 लोग घायल हुए। जर्मन पुलिस ने कहा कि हमलावर ने हमले के बाद आत्महत्या कर ली। यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है कि हमले में कितने आतंकी शामिल थे। पुलिस का कहना है कि हमें एक व्यक्ति मिला जिसने आत्महत्या कर ली। हमारा मानना है कि वह एकमात्र बंदूकधारी था। सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में दिखाई दे रहा है कि काले रंग के कपड़े पहने एक बंदूकधारी मैक्डॉनलड्स के एक रेस्तरां से बाहर आते हुए लोगों पर अंधाधुंध गोलीबारी कर रहा है और लोग चिल्लाते हुए भाग रहे हैं। म्यूनिख के हमले की जिम्मेदारी किसी संगठन ने नहीं ली है। लेकिन हमले के बाद सोशल मीडिया पर आईएस की ओर से जश्न मनाते हुए आईएस के समर्थकों ने इसे ट्वीट किया है। आठ दिन के अंदर यूरोप में यह तीसरा बड़ा हमला है। इससे पहले फ्रांस और जर्मनी में हुए हमलों की जिम्मेदारी आईएस ले चुका है। ज्ञात रहे कि यह शापिंग मॉल जहां यह हादसा हुआ है म्यूनिख ओलंपिक स्टेडियम के पास है और यहीं पर 1972 के ओलंपिक खेल के दौरान फलस्तीनी विद्रोहियों ने 11 इजरायली खिलाड़ियों को बंधक बनाकर उनकी हत्या कर दी थी। स्थानीय मीडिया की खबरों के मुताबिक इस गोलीबारी में कई लोगों की मौत की आशंका है। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कई लोग घायल हैं। जर्मन मीडिया की रिपोर्ट में यह भी कहा जा रहा है कि हमलावर एक ही है। हालांकि रिपोर्ट में कहा गया है कि मॉल के इस हमले में 10 आतंकवादी शामिल थे जिनमें से छह हमलावर भाग निकले। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस गोलीबारी की निन्दा करते हुए ट्वीट करते हुए हमले की कड़े शब्दों में निन्दा की है। सरकार ने बताया कि इस गोलीबारी में मारे गए लोगों में कोई भी इंडियन नहीं है।

-अनिल नरेन्द्र

No comments:

Post a comment